Wednesday, July 20, 2011

लेडी रचना और डा. अमर कुमार के बीच Against Dress Code For Women

खनखना रही हैं शब्दों की शमशीरें।
शमशीर का मतलब है तलवार।
ये तलवारें आभासी हैं लेकिन फिर घायल बहुत करती हैं।

डा. अमर कुमार जी औरतों के नाभि प्रदर्शन पर और पोर्न साइट्स के मुताल्लिक़ विचार रखते हुए कह रहे हैं कि
Ladies are advised about certain norms...
because fair sex is more vulnerable to unfair eyes !
Who says.. Indian attire is more graceful ? Have a look at low back or backless blouses.. naval showing tightly worn sarees, exposing every detais of hip's contour.
Till the devil dwells in human minds, porn sites are hard to go... better desist visiting there and block those links !

approved by the blog author ;-)

http://mypoeticresponse.blogspot.com/2011/07/blog-post_19.html?showComment=1311107856930#c6871591586221328475
उन्होंने इंग्लिश में इसलिए कहा है क्योंकि रचना जी हिंदी जितनी ही इंग्लिश भी अच्छी समझती हैं और बात में दम सा भी लगता है औसत अक्ल के लोगों को।

दरअसल इस वैचारिक जंग की शुरूआत तो लेडी रचना ने ब्लॉग जगत में बहुत दिनों से कर रखी है कि औरतों को कोई सलाह न दी जाए कि उसे क्या पहनना है ?
जहां भी उन्हें ऐसी सलाह देता हुआ कोई ब्लॉगर नज़र आ जाता है तो वे भिड़ जाती हैं। इसी क्रम उन्होंने मासूम साहब की पोस्ट पर ताबड़तोड़ कमेंटीय धावा बोल दिया और मासूम साहब उन्हें समझाते ही रह गए कि यह लेख तो मैंने उन औरतों को नज़र में रखकर लिखा था जिन्हें अपनी आबरू का ख़याल अपनी जान से भी ज़्यादा होता है। देखिए एक घनघोर शब्द युद्ध यहां पर
http://bezaban.blogspot.com/2011/07/blog-post_18.html

7 comments:

ज़ाकिर अली ‘रजनीश’ (Zakir Ali 'Rajnish') said...

दूसरों की आग में अपने हाथ सेंकने की कोशिश तो नहीं?
------
बेहतर लेखन की ‘अनवरत’ प्रस्‍तुति।
अब आप अल्‍पना वर्मा से विज्ञान समाचार सुनिए..

DR. ANWER JAMAL said...

@ Rajneesh ji ! क्या आपके द्वारा यहां-वहां अपना लिंक छोड़ने के मक़सद को हमने कभी ऐसा समझा ?
यह है हमारी उदारदिली और आपकी तंगहृदयता !
आप वहां जाकर देखिए कि हो क्या रहा है बजाय यहां तफ़्तीश करने के।

रचना said...

Dr Anwar Jamaal
Did you even understand what dr amar said ????
And as regards my comments on masums post he has already agreed to the discussion that we need to make rules for man and woman not just man

before you make a post at least understand the issue other wise you make a fool of your self nothing more

and here who so ever will read your post will laugh and go away because you not sounding like a fool but a stupid as well

रचना said...

मैंने उन औरतों को नज़र में रखकर लिखा था जिन्हें अपनी आबरू का ख़याल अपनी जान से भी ज़्यादा होता है।

aesa ek bhi vyaakya masum ki post yaa kament mae dikhaa dae

yae aap ke shabd haen unkae nahin

aur maere upar likh likh kar bore nahin hogyae

sab kuchh to pehlae kayeii baar keh chukae haen

shyaad aap ke majhab mae yahii sheksha dee jaatee haen

रचना said...

http://kumarendra.blogspot.com/2011/07/blog-post_21.html

tommorrow make a news of this post i have posted comment here also

रमेश कुमार जैन उर्फ़ "सिरफिरा" said...

हम अनपढ़, गंवार कुछ नहीं समझे कोई हिंदी कुछ कहता या लिखता तब समझ आती. पढ़े-लिखे की लड़ाई में हम क्यों पड़े. जब सब ब्लोग्गर दूर खड़े होकर तमाशा देख रहे हैं तब हम क्यों न देखें? हम तो ठहरे वैसे भी अनपढ़, गंवार और सिरफिरा.

vidhya said...

oh

‘ब्लॉग की ख़बरें‘

1- क्या है ब्लॉगर्स मीट वीकली ?
http://blogkikhabren.blogspot.com/2011/07/blog-post_3391.html

2- किसने की हैं कौन करेगा उनसे मोहब्बत हम से ज़्यादा ?
http://mushayera.blogspot.com/2011/07/blog-post_19.html

3- क्या है प्यार का आवश्यक उपकरण ?
http://blogkikhabren.blogspot.com/2011/07/blog-post_18.html

4- एक दूसरे के अपराध क्षमा करो
http://biblesmysteries.blogspot.com/2011/07/blog-post.html

5- इंसान का परिचय Introduction
http://ahsaskiparten.blogspot.com/2011/07/introduction.html

6- दर्शनों की रचना से पूर्व मूल धर्म
http://kuranved.blogspot.com/2011/07/blog-post.html

7- क्या भारतीय नारी भी नहीं भटक गई है ?
http://lucknowbloggersassociation.blogspot.com/2011/07/blog-post_17.html

8- बेवफा छोड़ के जाता है चला जा
http://kunwarkusumesh.blogspot.com/2011/07/blog-post_11.html#comments

9- इस्लाम और पर्यावरण: एक झलक
http://www.hamarianjuman.com/2011/07/blog-post.html

10- दुआ की ताक़त The spiritual power
http://ruhani-amaliyat.blogspot.com/2011/01/spiritual-power.html

11- रमेश कुमार जैन ने ‘सिरफिरा‘ दिया
http://blogkikhabren.blogspot.com/2011/07/blog-post_17.html

12- शकुन्तला प्रेस कार्यालय के बाहर लगा एक फ्लेक्स बोर्ड-4
http://shakuntalapress.blogspot.com/

13- वाह री, भारत सरकार, क्या खूब कहा
http://bhadas.blogspot.com/2011/07/blog-post_19.html

14- वैश्विक हुआ फिरंगी संस्कृति का रोग ! (HIV Test ...)
http://sb.samwaad.com/2011/07/blog-post_16.html

15- अमीर मंदिर गरीब देश
http://hbfint.blogspot.com/2011/07/blog-post_18.html

16- मोबाइल : प्यार का आवश्यक उपकरण Mobile
http://hbfint.blogspot.com/2011/07/mobile.html

17- आपकी तस्वीर कहीं पॉर्न वेबसाइट पे तो नहीं है?
http://bezaban.blogspot.com/2011/07/blog-post_18.html

18- खाद्य सुरक्षा और मानक अधिनियम अब तक लागू नहीं
http://hbfint.blogspot.com/2011/07/blog-post_19.html

19- दुनिया में सबसे ज्यादा शादियाँ करने वाला कौन है?
इसका श्रेय भारत के ज़ियोना चाना को जाता है। मिजोरम के निवासी 64 वर्षीय जियोना चाना का परिवार 180 सदस्यों का है। उन्होंने 39 शादियाँ की हैं। इनके 94 बच्चे हैं, 14 पुत्रवधुएं और 33 नाती हैं। जियोना के पिता ने 50 शादियाँ की थीं। उसके घर में 100 से ज्यादा कमरे है और हर रोज भोजन में 30 मुर्गियाँ खर्च होती हैं।
http://gyaankosh.blogspot.com/2011/07/blog-post_14.html

20 - ब्लॉगर्स मीट अब ब्लॉग पर आयोजित हुआ करेगी और वह भी वीकली Bloggers' Meet Weekly
http://hbfint.blogspot.com/2011/07/bloggers-meet-weekly.html

21- इस से पहले कि बेवफा हो जाएँ
http://www.sahityapremisangh.com/2011/07/blog-post_3678.html

22- इसलाम में आर्थिक व्यवस्था के मार्गदर्शक सिद्धांत
http://islamdharma.blogspot.com/2012/07/islamic-economics.html

23- मेरी बिटिया सदफ स्कूल क्लास प्रतिनिधि का चुनाव जीती
http://hbfint.blogspot.com/2011/07/blog-post_2208.html

24- कुरआन का चमत्कार

25- ब्रह्मा अब्राहम इब्राहीम एक हैं?

26- कमबख़्तो ! सीता माता को इल्ज़ाम न दो Greatness of Sita Mata

27- राम को इल्ज़ाम न दो Part 1

28- लक्ष्मण को इल्ज़ाम न दो

29- हरेक समस्या का अंत, तुरंत

30-
अपने पड़ोसी को तकलीफ़ न दो

साहित्य की ताज़ा जानकारी

1- युद्ध -लुईगी पिरांदेलो (मां-बेटे और बाप के ज़बर्दस्त तूफ़ानी जज़्बात का अनोखा बयान)
http://pyarimaan.blogspot.com/2011/07/blog-post_17.html

2- रमेश कुमार जैन ने ‘सिरफिरा‘ दिया
http://blogkikhabren.blogspot.com/2011/07/blog-post_17.html

3- आतंकवादी कौन और इल्ज़ाम किस पर ? Taliban
http://hbfint.blogspot.com/2011/07/taliban.html

4- तनाव दूर करने की बजाय बढ़ाती है शराब
http://hbfint.blogspot.com/2011/07/blog-post_17.html

5- जानिए श्री कृष्ण जी के धर्म को अपने बुद्धि-विवेक से Krishna consciousness
http://vedquran.blogspot.com/2011/07/krishna-consciousness.html

6- समलैंगिकता और बलात्कार की घटनाएं क्यों अंजाम देते हैं जवान ? Rape
http://ahsaskiparten.blogspot.com/2011/07/rape.html

7- क्या भारतीय नारी भी नहीं भटक गई है ?
http://lucknowbloggersassociation.blogspot.com/2011/07/blog-post_17.html

8- ख़ून बहाना जायज़ ही नहीं है किसी मुसलमान के लिए No Voilence
http://ahsaskiparten.blogspot.com/2011/07/no-voilence.html

9- धर्म को उसके लक्षणों से पहचान कर अपनाइये कल्याण के लिए
http://charchashalimanch.blogspot.com/2011/07/blog-post.html

10- बाइबिल के रहस्य- क्षमा कीजिए शांति पाइए
http://biblesmysteries.blogspot.com/2011/03/blog-post.html

11- विश्व शांति और मानव एकता के लिए हज़रत अली की ज़िंदगी सचमुच एक आदर्श है
http://dharmiksahity.blogspot.com/2011/07/blog-post.html

12- दर्शनों की रचना से पूर्व मूल धर्म
http://kuranved.blogspot.com/2011/07/blog-post.html

13- ‘इस्लामी आतंकवाद‘ एक ग़लत शब्द है Terrorism or Peace, What is Islam
http://commentsgarden.blogspot.com/2011/07/terrorism-or-peace-what-is-islam.html

14- The real mission of Christ ईसा मसीह का मिशन क्या था ? और उसे किसने आकर पूरा किया ? - Anwer Jamal
http://kuranved.blogspot.com/2010/10/real-mission-of-christ-anwer-jamal.html

15- अल्लाह के विशेष गुण जो किसी सृष्टि में नहीं है.
http://quranse.blogspot.com/2011/06/blog-post_12.html

16- लघु नज्में ... ड़ा श्याम गुप्त...
http://mushayera.blogspot.com/2011/07/blog-post_17.html

17- आपको कौन लिंक कर रहा है ?, जानने के तरीके यह हैं
http://techaggregator.blogspot.com/

18- आदम-मनु हैं एक, बाप अपना भी कह ले -रविकर फैजाबादी

19-मां बाप हैं अल्लाह की बख्शी हुई नेमत

20- मौत कहते हैं जिसे वो ज़िन्दगी का होश है Death is life

21- कल रात उसने सारे ख़तों को जला दिया -ग़ज़ल Gazal

22- मोम का सा मिज़ाज है मेरा / मुझ पे इल्ज़ाम है कि पत्थर हूँ -'Anwer'

23- दिल तो है लँगूर का

24- लब पे आती है दुआ बन के तमन्ना मेरी - Allama Iqbal

25- विवाद -एक लघुकथा डा. अनवर जमाल की क़लम से Dispute (Short story)

26- शीशा हमें तो आपको पत्थर कहा गया (ग़ज़ल)