Tuesday, May 31, 2011

भाई कृष्ण कुमार यादव ने ब्लोगिग्न को नये आयाम दिए हैं

भाई कृष्ण कुमार यादव ने ब्लोगिग्न को नये आयाम दिए हैं

 
 
जी हाँ दोस्तों सरकारी जिम्मेदारियों के साथ साथ लेखनी में जोर आजमाईश करने  वाले भाई कृष्ण कुमार यादव ने ब्लोगिग्न को नये आयाम दिए हैं इनकी ब्लोगिग्न सेवा लेखन सभी के लियें सराहनीय रहा है कुछ इनकी ब्लोगिग्न और जीवन शेली के बारे में इनकी ही जुबानी सुन डालिए .....      सम्प्रति भारत सरकार में निदेशक.प्रशासन के साथ हिंदी साहित्य में भी दखलंदाजी. जवाहर नवोदय विद्यालय-आज़मगढ़ एवं तत्पश्चात इलाहाबाद विश्वविद्यालय से 1999 में राजनीति-शास्त्र में परास्नातक. समकालीन हिंदी साहित्य में नया ज्ञानोदय, कादम्बिनी, सरिता, नवनीत, आजकल, वर्तमान साहित्य, उत्तर प्रदेश, अकार, लोकायत, गोलकोण्डा दर्पण, उन्नयन, दैनिक जागरण, अमर उजाला, राष्ट्रीय सहारा, स्वतंत्र भारत, आज, द सण्डे इण्डियन, इण्डिया न्यूज,शुक्रवार, अक्षर पर्व, युग तेवर, मधुमती, गोलकोंडा दर्पण, इन्द्रप्रस्थ भारती, शेष, अक्सर, आधारशिला इत्यादि सहित 250 से ज्यादा पत्र-पत्रिकाओं व सृजनगाथा, अनुभूति, अभिव्यक्ति, साहित्यकुंज, साहित्यशिल्पी, रचनाकार, लिटरेचर इंडिया, हिंदीनेस्ट, कलायन इत्यादि वेब-पत्रिकाओं में विभिन्न विधाओं में रचनाओं का प्रकाशन. आकाशवाणी पर कविताओं के प्रसारण के साथ तीन दर्जन से अधिक प्रतिष्ठित काव्य-संकलनों में कवितायेँ प्रकाशित. एक काव्यसंकलन "अभिलाषा" सहित दो निबंध-संकलन "अभिव्यक्तियों के बहाने" तथा "अनुभूतियाँ और विमर्श" एवं संपादित कृति "क्रांति-यज्ञ" का प्रकाशन. व्यक्तित्व-कृतित्व पर "बाल साहित्य समीक्षा(कानपुर)" व "गुफ्तगू(इलाहाबाद)" पत्रिकाओं द्वारा विशेषांक जारी.शोधार्थियों हेतु व्यक्तित्व-कृतित्व पर इलाहाबाद से "बढ़ते चरण शिखर की ओर : कृष्ण कुमार यादव" (सं0- दुर्गाचरण मिश्र) प्रकाशित.       की गयी हैं   कृष्ण   कुमार यादव के ब्लॉग माँ ....युवामन .....शब्द्वार....शब्द्वार.......हिंदी साहित्य मंच ..उत्सव के रंग ... ...........डाकिया डाक लाया ... शब्द सर्जन की और ..........         हिंदी साहित्य मंच .....सप्तरंगी प्रेम ...............................  आजमगढ़ ब्लोगर एसोसिएशन ....बाल दुनिया प्रमुख सांझा और निजी ब्लॉग हैं जिनपर कृष्ण कुमार जी कभी रासलीला करते हैं तो कभी दुनियादारी सिखाते हैं कभी हंसाते हैं तो कभी रुलाते हैं तो कभी गम्भीर हो जाते हैं इनकी लेखनी हर रंग में रंगी होने से इन्हें अगर इन्द्रधनुषीय लेखक कह दिया जाए तो झूंठ नहीं होगा ......अख्तर खान अकेला कोटा राजस्थान

Monday, May 30, 2011

'' ये मन की अभिव्यक्ति का सफ़र है, जो प्रति-पल मन में उपजता है...'' ___ जेन्नी शबनम

'' ये मन की अभिव्यक्ति का सफ़र है, जो प्रति-पल मन में उपजता है...'' ___ जेन्नी शबनम

                     '' ये मन की अभिव्यक्ति का सफ़र है, जो प्रति-पल मन में उपजता है...'' ___ जेन्नी शबनम       जी हाँ डोक्टर शबनम अपने इसी अंदाज़ में लम्हों के सफर के साथ आप और हमारे बीच बहतरीन रचनाएँ बनत रही है ................बहन डोक्टर जेन्नी शबनम नै दिल्ली से भागलपुर यानी बिहार  और दिल्ली तक का सफर तय कर आई हैं और अलग अलग राज्यों के लोगों के साथ ..अलग अलग हालातों को देखने के बाद उनकी मन की अभिव्यक्ति का जो सफर चला है उसकी जो उड़ान हुई है इन सब को अल्फाजों में ढाल कर बहन शबनम ने ब्लॉग की दुनिया को खुबुरत अल्फाजों से तर बतर कर दिया है ...............जनवरी २००९ में जब बहन जेन्नी शबनम ने मुनासिब नहीं है मेरा होना ..पहली रचना हिंदी और अंग्रेजी में ब्लॉग लम्हों का सफर पर लिखी तो बस फिर यह लिखती ही रहीं और आज पुरे ढाई साल के लगभग वक्त गुजरने के साथ साथ इनके अल्फाजों की धार पेनी होती जा रही है और इनके अलफ़ाज़ लोगों के जमीर को झकझोर रहे हैं ...ओशो और अमरता प्रतीतं का साहित्य पसंद करने वाली बहन शबनम साहित्य प्रेमी संघ में भी सांझा ब्लोगर हैं ...इनके हर लम्हों के सफर में ऐसा लगता है के जिंदगी की आस और जिंदगी की सांस है ऐसी रचनाकार को बधाई ..अख्तर खान अकेला कोटा राजस्थान         

बहन संगीता जी ऐसे ही पाठकों की हर दिल अज़ीज़ बनी रहें

बहन संगीता जी ऐसे ही पाठकों की हर दिल अज़ीज़ बनी रहें

पोस्‍ट-ग्रेज्‍युएट डिग्री ली है अर्थशास्‍त्र में .. पर सारा जीवन समर्पित कर दिया ज्‍योतिष को .. अपने बारे में कुछ खास नहीं बताने को अभी तक .. ज्योतिष का गम्भीर अध्ययन-मनन करके उसमे से वैज्ञानिक तथ्यों को निकलने में सफ़लता पाते रहना .. बस सकारात्‍मक सोंच रखती हूं .. सकारात्‍मक काम करती हूं .. हर जगह सकारात्‍मक सोंच देखना चाहती हूं .. आकाश को छूने के सपने हैं मेरे .. और उसे हकीकत में बदलने को प्रयासरत हूं .. सफलता का इंतजार है।
ज्योतिष का गम्भीर अध्ययन-मनन करके उसमे से वैज्ञानिक तथ्यों को निकलने में सफ़लता पाते रहना .. जो शिक्षा मुझे मेरे पिताजी ने दी है .   जी हाँ यह सब बहन संगीता जी का कहना है जिनकी रीडर संख्या एक हजार होने पर बधाई मुबारकबाद बहन संगीता जी ऐसे ही पाठकों की हर दिल अज़ीज़ बनी रहें .....आमीन ..भाई ललित शर्मा ने ब्लोग्वार्ता के जरिये जब यह जानकारी दी तो मेरा भी संगीता जी को बधाई देने का मन किया और मेने इस तरह से उन्हें बधाई दे डाली ............अख्तर खान अकेला कोटा राजस्थान
You might also like:

Sunday, May 29, 2011

अंदाज ए मेरा: आत्‍मसमर्पित नक्‍सली की कहानी........ उसी की जुबान...

अंदाज ए मेरा: आत्‍मसमर्पित नक्‍सली की कहानी........ उसी की जुबान...: "उसकी उमर कोई 21 साल है। वैसे तो 21 साल की उमर कोई बडी उमर नहीं होती लेकिन इस कम उम्र में उसने काफी कुछ झेला है। उसका नाम संध्‍या है। आज..."

Friday, May 27, 2011

हिंदी ब्लॉगिंग गाइड के बारे में चल रहा है सलाह मशविरा HBFI पर - Dr. Anwer Jamal


आप भी आ जाइये
http://hbfint.blogspot.com/2011/05/blog-post_5220.html

Thursday, May 26, 2011

स्वामी अग्निवेश जी के क़त्ल का फ़रमान जारी किया अखिल भारतीय हिंदू महासभा ने


कारण यह कि अग्निवेश ने  अमरनाथ की यात्रा को ‘धार्मिक पाखंड‘ क़रार देते हुए  कहा
, 'अमरनाथ में बनने वाला शिवलिंग एक प्राकृतिक प्रक्रिया है। इसे धर्म से जोड़ा जाना सही नहीं है।' उन्‍होंने कहा, ‘मेरी समझ से बाहर है कि लोग अमरनाथ यात्रा के लिए क्‍यों जाते हैं। यह धर्म के नाम पर धोखा है। मैं इस तरह के धर्म पर यकीन नहीं करता। धर्म वह है जो गरीबों व वंचितों को न्‍याय दिलाए।’
भास्कर की पूरी रिपोर्ट देखने के लिए आपको जाना होगा निम्न लिंक पर

Tuesday, May 24, 2011

Hams Institute -a new blog


Today i am giving you a unique blog link which is related to your health .blogs URL is ''http://hamsinstitute.blogspot.com''.so visit this site & make your health Good-better-Best .
   Have a nice day
                                                   shikha kaushik 

Sunday, May 22, 2011

जी हाँ दर्शन बवेजा जो ब्लोगिग्न के माध्यम से देश विदेश को पर्यावरण ज्ञान दे रहे हैं आज उनका जन्म दिन है


जी हाँ दर्शन बवेजा जो ब्लोगिग्न के माध्यम से देश विदेश को पर्यावरण ज्ञान दे रहे हैं आज उनका जन्म दिन है

              [11.jpg]सभी शिक्षक अपनी जिम्मेदारी को समझें विज्ञान एवँ पर्यावरण के प्रति विद्याथियों को शिक्षित करें। जिससे उनमें पर्यावरण की रक्षा करने की जागरुकता आए। यह कार्य अत्यावश्यक इसलिए है कि विद्यार्थी के कोमल मन मस्तिष्क पर बचपन में प्राप्त ज्ञान की अमिट छाप रह्ती है और वह इसे जीवन भर नहीं भूलता। इसलिए अंधविश्वाश निवारण एवं पर्यावरण संरक्षण में शिक्षक की महत्वपूर्ण भूमिका है, इससे इंकार नही किया जा सकता।
जी हाँ दर्शन बवेजा जो ब्लोगिग्न के माध्यम से देश विदेश को पर्यावरण ज्ञान दे रहे हैं आज उनका जन्म दिन है उनके जन्म दिन पर उन्हें उनके सहयोगियों और परिजनों को हार्दिक बधाई .....दोस्तों कुछ लोग वोह होते हैं जो खुद के लियें जीते हैं लेकिन कुछ लोग वोह भी होते है जो दूसरों के लियें देश के लीयें प्रक्रति के लिए जीते हैं ऐसे ही एक अद्यापक भाई दर्शन बवेजा जो लोगोग्न को पर्यावरण और विज्ञान के पाठ पढ़ा रहे हैं रोज़ नई नयीं चोंकाने वाली जानकारियों से उन्हें परिचय करा रहे हैं इतना ही नहीं बवेजा भाई देश के नागरिकों को आज की सबसे खास जरूरत पर्यावरण का पथ भी पढ़ा  रहे है और वोह अपनी पहचान एक सच्चे भारतीय पर्यावरण विद की बना क हुके हैं ...............
भाई दर्शन बवेजा नुक्कड़ ..पर्थाकी ..इमली इको क्लब ....यमुना नगर हलचल ...विज्ञान गतिविधियाँ ............................ क्यों और केसे विज्ञान में ....ब्लॉग लिखते हैं जिसमे इन जनाब ने विज्ञानं ..पर्यावरण की जानकारियां सुझाव और आवश्यताएँ कूट कूट कर भरदी हैं जो ब्लोगर्स की जानकार बढ़ा  रहे हैं ऐसे ब्लोगर भाई दर्शन बवेजा को आज उनके जन्म दिन पर बधाई ...अख्तर खान अकेला कोटा राजस्थान 

Saturday, May 21, 2011

जागरण जंक्शन की नई सुविधा है 'Best Web Blogs'


प्रिय पाठक,  

दिल्ली में आयोजित सम्मान समारोह में 
मुख्यमंत्री निशंक जी से सम्मान ग्रहण करते हुए 
हमारी प्रिय कवयित्री रश्मि प्रभा जी , मु.नि. HBFI
जागरण जंक्शन आपको निरंतर नयी सुविधाएं मुहैय्या कराने की कोशिश करता रहा है ताकि ऑनलाइन संसार में आपके पाठकों की संख्या में भारी इजाफा हो और आपकी अत्याधिक श्रम से सृजित की गयी रचनाओं का लाभ दुनियां भर के लाखों पाठक उठा सकें. इसी कड़ी में कुछ माह पूर्व एक खास तरह की सुविधा “बेस्ट वेब ब्लॉग्स (Best Web Blogs)” के नाम से आरंभ की गयी थी जिसमें जागरण जंक्शन के बाहर के कई प्रशंसनीय ब्लॉग्स एक स्थान पर संकलित हैं.
आप भी यदि जागरण जंक्शन के अलावा कहीं किसी अन्य ब्लॉग को संचालित करते हैं तो अपने उस ब्लॉग को हमारी इस सूची में शामिल करवाने के लिए उसके लिंक यूआरएल (Blog Url) सहित अन्य डीटेल्सfeedback@jagranjunction.com पर भेज सकते हैं. हम ऐसे ब्लॉग्स की गुणवत्ता को देखने के बाद बेस्ट वेब ब्लॉग्स की सूची में जोड़ देंगे.


धन्यवाद
------------------------------------------------------------------------
ईमेल से यह संदेश मिला तो हम साइट पर पहुंचे और वहां हमारी नज़र पड़ी रश्मि जी के ब्लॉग पर। हम उनके ब्लॉग पर पहुंचे और उनकी एक अद्भुत रचना पढ़ी। आप भी पढ़िए और उस पर दिया गया हमारा यह कमेंट भी पढ़िए और जो हम न समझ सके, उसे आप समझिए !
DR. ANWER JAMAL ने कहा…


मोहतरमा रश्मि जी ! आज जागरण के ज़रिये आपके ब्लॉग पर आना हुआ तो यह रचना पढ़ी और इसमें यह रहस्यमय लगा -
वह .... वह राजा जो एक फ़कीर था
दुआओं का स्रोत था
मैं नदी बन गई और वह साई जल बन
मुझमें भरता गया
मैं एक मुकम्मल नदी हो गई
उदित सूर्य का अर्घ्य
........... क्या नाम दूँ उसे ?
साई , दुआ , सूरज , अर्घ्य
या आशीष !
---------------------------------------------------------
इसी बहाने हम एक बार फिर रश्मि प्रभा जी को दिल्ली में मिले पुरस्कार के लिए दिली मुबारकबाद देते हैं। 


Thursday, May 19, 2011

37. भ्रष्ट पचीसा - ईं. प्रदीप कुमार

ईं. प्रदीप कुमार जी की एक रचना जो हालाते हाज़िरा का एक जीवंत ख़ाका आपके सामने पेश करती है। उनके ब्लॉग पर जाकर उनकी यह रचना पढ़ें और उनका हौसला बढ़ाएं।
http://www.pradip13m.blogspot.com/

Wednesday, May 18, 2011

देश भर में विधिक सहायता और साहित्यिक काम में जुटे हैं भाई दिनेश द्विवेदी उनकी आज वैवाहिक वर्षगांठ है

देश भर में विधिक सहायता और साहित्यिक काम में जुटे हैं भाई दिनेश द्विवेदी उनकी आज वैवाहिक वर्षगांठ है





देश भर में विधिक सहायता और साहित्यिक काम में जुटे हैं, भाई दिनेश द्विवेदी, उनकी आज वैवाहिक वर्षगांठ है , जी हाँ दोस्तों ,बारां राजस्थान में एक गाँव में जन्मे,, भाई दिनेश राय जी द्विवेदी में ,उनके पिता टीचरजी के संस्कार हैं, और इसीलियें सहजता और सरलता उनमे कूट कूट कर भरी है ......भाई दिनेश जी पढने के लियें कोटा आये और कोटा के ही होकर रह गये ..इन्होने कोटा में विधि स्नातक किया और यहाँ पहले साहित्यिक संस्थाओं से जुड़ कर खूब लिखा,फिर पत्रकारिता की ,और फिर लाल सलाम के साथ, इन्साफ की लड़ाई में जुट गए ...........भाई दिनेश जी खुश किस्मत हैं ,के आज के दिन ही हमारी भाभीजी से उनका विवाह हुआ ..एक सीधी साधी पंडितानी जी, जो हर कदम पर भाई दिनेश जी के साथ लगी रही और यही कारण है के  भाई दिनेश जी की आज की,जुडी कामयाबियों में हमारी भाभी जी का भी बराबर का योगदान है, आज का खुशनसीब दिन ,,जिस दिन उनका विवाह हुआ था उन्हें मुबारक हो ...............
भाई दिनेश जी की ब्लोगिंग की बुलंदिया क्या है, यह मुझे बताने की जरा भी जरूरत नहीं है,आज हमारीवाणी एग्रीगेटर के वोह सम्पादक मंडल में है, देश और विदेश के सभी हिंदी ब्लोगर उन्हें जानते हैं, उनका सहज सादा और दिल की गहराइयों को छूने वाला लेखन, जब लोग पढ़ते हैं तो बस, उस पर नाजाने कितनी दाद उन्हें मिलती है .............भाई दिनेश जी द्विवेदी का तीसरा खम्बा .......क्राइम एंड पनिशमेंट ..इन्डियन लीगल न्यूज़ ............माय हाडोती ..अनवरत  के अलावा दर्जनों सांझे ब्लॉग हैं लेकिन तीसरा खम्बा  और अदालत पर भाई दिनेश जी एक वकील ब्लोगर के नाते जो खिदमत अंजाम दे रहे हैं उसे कभी भुलाया नहीं जा सकता वोह देश भर में विधिक साक्षरता की अलख जगा रहे हैं एक सम्पूर्ण ब्लोगर भाई दिनेश जी अपने संस्कारों और विचारों के कारण, अधिकतम ब्लोगर्स के दिलों में बसे है, वोह बात और है, के उनकी साफ़ गोई ,कुछ लोगों की नाराजगी का कारण बन जाती है ,लेकिन वोह जो देखते हैं, जो सच समझते हैं, कहते हैं, लेकिन  दिल से वोह मोम की तरह मुलायम हैं,,,,भाई दिनेश जी को आज उनकी वैवाहिक वर्ष्गांठ के अवसर पर एक छोटे भाई की हार्दिक बधाई ...अख्तर खान अकेला कोटा राजस्थान

‘ब्लॉग की ख़बरें‘

1- क्या है ब्लॉगर्स मीट वीकली ?
http://blogkikhabren.blogspot.com/2011/07/blog-post_3391.html

2- किसने की हैं कौन करेगा उनसे मोहब्बत हम से ज़्यादा ?
http://mushayera.blogspot.com/2011/07/blog-post_19.html

3- क्या है प्यार का आवश्यक उपकरण ?
http://blogkikhabren.blogspot.com/2011/07/blog-post_18.html

4- एक दूसरे के अपराध क्षमा करो
http://biblesmysteries.blogspot.com/2011/07/blog-post.html

5- इंसान का परिचय Introduction
http://ahsaskiparten.blogspot.com/2011/07/introduction.html

6- दर्शनों की रचना से पूर्व मूल धर्म
http://kuranved.blogspot.com/2011/07/blog-post.html

7- क्या भारतीय नारी भी नहीं भटक गई है ?
http://lucknowbloggersassociation.blogspot.com/2011/07/blog-post_17.html

8- बेवफा छोड़ के जाता है चला जा
http://kunwarkusumesh.blogspot.com/2011/07/blog-post_11.html#comments

9- इस्लाम और पर्यावरण: एक झलक
http://www.hamarianjuman.com/2011/07/blog-post.html

10- दुआ की ताक़त The spiritual power
http://ruhani-amaliyat.blogspot.com/2011/01/spiritual-power.html

11- रमेश कुमार जैन ने ‘सिरफिरा‘ दिया
http://blogkikhabren.blogspot.com/2011/07/blog-post_17.html

12- शकुन्तला प्रेस कार्यालय के बाहर लगा एक फ्लेक्स बोर्ड-4
http://shakuntalapress.blogspot.com/

13- वाह री, भारत सरकार, क्या खूब कहा
http://bhadas.blogspot.com/2011/07/blog-post_19.html

14- वैश्विक हुआ फिरंगी संस्कृति का रोग ! (HIV Test ...)
http://sb.samwaad.com/2011/07/blog-post_16.html

15- अमीर मंदिर गरीब देश
http://hbfint.blogspot.com/2011/07/blog-post_18.html

16- मोबाइल : प्यार का आवश्यक उपकरण Mobile
http://hbfint.blogspot.com/2011/07/mobile.html

17- आपकी तस्वीर कहीं पॉर्न वेबसाइट पे तो नहीं है?
http://bezaban.blogspot.com/2011/07/blog-post_18.html

18- खाद्य सुरक्षा और मानक अधिनियम अब तक लागू नहीं
http://hbfint.blogspot.com/2011/07/blog-post_19.html

19- दुनिया में सबसे ज्यादा शादियाँ करने वाला कौन है?
इसका श्रेय भारत के ज़ियोना चाना को जाता है। मिजोरम के निवासी 64 वर्षीय जियोना चाना का परिवार 180 सदस्यों का है। उन्होंने 39 शादियाँ की हैं। इनके 94 बच्चे हैं, 14 पुत्रवधुएं और 33 नाती हैं। जियोना के पिता ने 50 शादियाँ की थीं। उसके घर में 100 से ज्यादा कमरे है और हर रोज भोजन में 30 मुर्गियाँ खर्च होती हैं।
http://gyaankosh.blogspot.com/2011/07/blog-post_14.html

20 - ब्लॉगर्स मीट अब ब्लॉग पर आयोजित हुआ करेगी और वह भी वीकली Bloggers' Meet Weekly
http://hbfint.blogspot.com/2011/07/bloggers-meet-weekly.html

21- इस से पहले कि बेवफा हो जाएँ
http://www.sahityapremisangh.com/2011/07/blog-post_3678.html

22- इसलाम में आर्थिक व्यवस्था के मार्गदर्शक सिद्धांत
http://islamdharma.blogspot.com/2012/07/islamic-economics.html

23- मेरी बिटिया सदफ स्कूल क्लास प्रतिनिधि का चुनाव जीती
http://hbfint.blogspot.com/2011/07/blog-post_2208.html

24- कुरआन का चमत्कार

25- ब्रह्मा अब्राहम इब्राहीम एक हैं?

26- कमबख़्तो ! सीता माता को इल्ज़ाम न दो Greatness of Sita Mata

27- राम को इल्ज़ाम न दो Part 1

28- लक्ष्मण को इल्ज़ाम न दो

29- हरेक समस्या का अंत, तुरंत

30-
अपने पड़ोसी को तकलीफ़ न दो

साहित्य की ताज़ा जानकारी

1- युद्ध -लुईगी पिरांदेलो (मां-बेटे और बाप के ज़बर्दस्त तूफ़ानी जज़्बात का अनोखा बयान)
http://pyarimaan.blogspot.com/2011/07/blog-post_17.html

2- रमेश कुमार जैन ने ‘सिरफिरा‘ दिया
http://blogkikhabren.blogspot.com/2011/07/blog-post_17.html

3- आतंकवादी कौन और इल्ज़ाम किस पर ? Taliban
http://hbfint.blogspot.com/2011/07/taliban.html

4- तनाव दूर करने की बजाय बढ़ाती है शराब
http://hbfint.blogspot.com/2011/07/blog-post_17.html

5- जानिए श्री कृष्ण जी के धर्म को अपने बुद्धि-विवेक से Krishna consciousness
http://vedquran.blogspot.com/2011/07/krishna-consciousness.html

6- समलैंगिकता और बलात्कार की घटनाएं क्यों अंजाम देते हैं जवान ? Rape
http://ahsaskiparten.blogspot.com/2011/07/rape.html

7- क्या भारतीय नारी भी नहीं भटक गई है ?
http://lucknowbloggersassociation.blogspot.com/2011/07/blog-post_17.html

8- ख़ून बहाना जायज़ ही नहीं है किसी मुसलमान के लिए No Voilence
http://ahsaskiparten.blogspot.com/2011/07/no-voilence.html

9- धर्म को उसके लक्षणों से पहचान कर अपनाइये कल्याण के लिए
http://charchashalimanch.blogspot.com/2011/07/blog-post.html

10- बाइबिल के रहस्य- क्षमा कीजिए शांति पाइए
http://biblesmysteries.blogspot.com/2011/03/blog-post.html

11- विश्व शांति और मानव एकता के लिए हज़रत अली की ज़िंदगी सचमुच एक आदर्श है
http://dharmiksahity.blogspot.com/2011/07/blog-post.html

12- दर्शनों की रचना से पूर्व मूल धर्म
http://kuranved.blogspot.com/2011/07/blog-post.html

13- ‘इस्लामी आतंकवाद‘ एक ग़लत शब्द है Terrorism or Peace, What is Islam
http://commentsgarden.blogspot.com/2011/07/terrorism-or-peace-what-is-islam.html

14- The real mission of Christ ईसा मसीह का मिशन क्या था ? और उसे किसने आकर पूरा किया ? - Anwer Jamal
http://kuranved.blogspot.com/2010/10/real-mission-of-christ-anwer-jamal.html

15- अल्लाह के विशेष गुण जो किसी सृष्टि में नहीं है.
http://quranse.blogspot.com/2011/06/blog-post_12.html

16- लघु नज्में ... ड़ा श्याम गुप्त...
http://mushayera.blogspot.com/2011/07/blog-post_17.html

17- आपको कौन लिंक कर रहा है ?, जानने के तरीके यह हैं
http://techaggregator.blogspot.com/

18- आदम-मनु हैं एक, बाप अपना भी कह ले -रविकर फैजाबादी

19-मां बाप हैं अल्लाह की बख्शी हुई नेमत

20- मौत कहते हैं जिसे वो ज़िन्दगी का होश है Death is life

21- कल रात उसने सारे ख़तों को जला दिया -ग़ज़ल Gazal

22- मोम का सा मिज़ाज है मेरा / मुझ पे इल्ज़ाम है कि पत्थर हूँ -'Anwer'

23- दिल तो है लँगूर का

24- लब पे आती है दुआ बन के तमन्ना मेरी - Allama Iqbal

25- विवाद -एक लघुकथा डा. अनवर जमाल की क़लम से Dispute (Short story)

26- शीशा हमें तो आपको पत्थर कहा गया (ग़ज़ल)